जप साधना में अलग-अलग संख्या वाले मनकों की माला का प्रयोग होता है। माला तुलसी, रुद्राक्ष, स्फटिक मणि, हाथी दांत, मूंगा, शंख, सीप ,चंदन ,हल्दी, मोती, कमल गट्टा घोडा, गधे व भेड के दांतो तक की होती है वशीकरण में मूंगा, हीरा ,प्रवाल( मूंगा) की| आकर्षण में हाथी दांत की| धर्म-क्रम व पौष्टिक क्रम में,शंख,कमल-गट्टे की माला व सर्व कामना सिद्धि के लिए,रुद्राक्ष की माला, सरस्वती साधना में मूंगे की माला, मोती की माला प्रयोग करनी चाहिएRead More