loading

Yantra

Budh Yantra

 

 

बुध यंत्र

बुध यंत्र स्थापित करने से तीव्र बुद्धि, अच्छी वाक्शक्ति, बुद्धिपरक कार्यों में सफलता, कम्प्यूटर के क्षेत्र में सफलता, त्वचा संबंधी रोगों की निवृत्ति, वाणी संबंधी विकारों व बौद्धिक दुर्बलता में शुभत्व की प्राप्ति होती है। यंत्र को सोने चांदी या ताम्रपत्र पर बना हुआ यंत्र स्थापित करना चाहिये। तथा ग्रह के मंत्र की कम से कम दो (प्रातः व संध्या में) तथा अधिकतम ग्यारह माला करनी चाहिये। विनोदपूर्ण वाणी और हास्य की क्षमता बिना इस ग्रह के संभव नहीं हो पाती ; इसलिए संबंधों में स्नेह बनाए रखने के लिए बंध ग्रह के यंत्र की स्थापना करनी चाहिए। बुध वह ग्रह है जो कि व्यापार को सीधे प्रभावित करता है। अतः यह उद्यमियों और सभी व्यापारियों को लाभदायक परिणाम प्राप्त करने के लिये इस यंत्र का प्रयोग करना चाहिए। यह यंत्र व्यापार को सुधारता है और इसकी बढ़ौत्तरी करता है । विधयार्थी को भी अपनी विद्या के क्षेत्र में सुधार लाने के लिये इस यंत्र का प्रयोग करना चाहिए। बुध यंत्र का प्रयोग किसी कुंडली में अशुभ बुध द्वारा बनाए जाने वाले दोषों को कम करने के लिए अथवा उनके निवारण के लिए किया जा सकता है तथा इसके अतिरिक्त बुध यंत्र का प्रयोग बुध ग्रह की सामान्य तथा विशिष्ट विशेषताओं के साथ जुड़े लाभ प्राप्त करने के लिए भी किया जा सकता है। बुध यंत्र का शुभ प्रभाव जातक को वाक कुशलता, समय अनुसार उचित निर्णय लेने की क्षमता, विश्लेषण करने की क्षमता, बुद्धिमता तथा ऐसी अन्य कई क्षमताएं प्रदान कर सकता है जिनके उपयोग से जातक अपने जीवन के अनेक क्षेत्रों में सफलता प्राप्त कर सकता है। बुध यंत्र से जातक को स्वास्थय से संबंधित कुछ विशेष प्रकार के लाभ भी प्रदान कर सकता है

यंत्र आप स्थापित करने के बाद इस मंत्र की 21 माला करें किसी भी शुभ दिन को इस से यंत्र का प्रभाव और भी बढ़ता जायेगा  जो आप को लाभ देगा अधिक जानकारी के लिए आप हमारी वेब साइट देखते रहे 

आप हम से ही यंत्र क्यों ले इसके पीछे सबसे बड़ा कारण है की हम यंत्र को शुभ दिनों में अच्छी क्वालटी की धातु से त्यार करवा कर शुभ महूर्तो में प्राण प्रतिष्ठा करवा कर फ्रेमिंग करवाते है और इस का जपनीय मंत्र भी आप को साथ देते है जो आप को लाभ देगा 

 

Astrologer Kanchan Pardeep Kukreja

Divya Jyoti Astro And Vaastu

Abohar & Ludhiana