loading

Vinayak-Choth

 
 
 
 
 
 

विनायक चतुर्थी 

प्रत्येक हिन्दू माह में दो चतुर्थी तिथि आती है। पौराणिक ग्रंथों के मुताबिक चतुर्थी तिथि भगवान शिव और पार्वती के पुत्र भगवान श्री गणेश को समर्पित है। इन दो चतुर्थी तिथि को विनायक चतुर्थी और संकष्टी चतुर्थी के नाम से जाना जाता है। जिनमे से एक अमावस्या के बाद शुक्ल पक्ष में आती है और दूसरी पूर्णिमा के बाद कृष्ण पक्ष में आती है। कृष्ण पक्ष के दौरान आने वाली चतुर्थी को संकष्टी चतुर्थी कहा जाता है जबकि शुक्ल पक्ष में आने वाली चतुर्थी को विनायक चतुर्थी कहते है। 

मंगलमूर्ति और प्रथम पूज्य भगवान गणेश को संकटहरण भी कहा जाता है। मान्यता है कि चतुर्थी के दिन व्रत रखने और भगवान गणेश की पूजा करने से जहां सभी कष्ट दूर हो जाते हैं वहीं इच्छाओं और कामनाओं की पूर्ति भी होती है।

इस दिन गणेशजी को लड्डुओं का भोग लगाया जाता है। शास्त्रों के मुताबिक देवी-देवताओं में सर्वोच्च स्थान रखने वाले विघ्न विनाशक भगवान गणेश की पूजा-अर्चना जो लोग नियमित रूप से करते हैं उनकी सुख-समृद्धि में बढ़ोतरी होती है।

विनायक चतुर्थी संक्रांति के आसपास आती है। चूंकि यहीं से सभी शुभ कार्य शुरू होते हैं इसलिए इसका ज्यादा महत्व है। सामग्री न भी हो तो सच्चे मन से की गयी गणपति की आराधना का फल अवश्य मिलता है। 

यहाँ हम आपको वर्ष भर की सभी विनायक चतुर्थी की तिथि और दिन बताने जा रहे है। इनकी मदद से आप पूरी तरह जान पायेंगे की कौन की चतुर्थी किस दिन पड़ रही है।

प्रत्येक शुक्ल पक्ष चतुर्थी को चन्द्रदर्शन के पश्चात् व्रती को आहार लेने का निर्देश है, इसके पहले नहीं। किंतु भाद्रपद शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को रात्रि में चन्द्र-दर्शन (चन्द्रमा देखने को) मना किया गया है।

जो व्यक्ति इस रात्रि को चन्द्रमा को देखते हैं उन्हें झूठा-कलंक प्राप्त होता है। ऐसा शास्त्रों का निर्देश है। यह अनुभूत भी है। इस गणेश चतुर्थी को चन्द्र-दर्शन करने वाले व्यक्तियों को उक्त परिणाम अनुभूत हुए, इसमें संशय नहीं है। यदि जाने-अनजाने में चन्द्रमा दिख भी जाए तो निम्न मंत्र का पाठ अवश्य कर लेना चाहिए

मंत्र::

"सिहः प्रसेनम् अवधीत्, सिंहो जाम्बवता हतः। सुकुमारक मा रोदीस्तव ह्येष स्वमन्तकः॥'

 

 
 

 

वर्ष 2018 की विनायक चतुर्थी की तिथियां (तारीख) 

तारीख   दिन पर्व गणेश पूजन समय
10 जनवरी 2019 गुरुवार माघ विनायक चतुर्थी 11:26 से 13:30
08 फरवरी 2019 शुक्रवार फाल्गुन विनायक चतुर्थी 11:30 से 13:40
10 मार्च 2019 रविवार चैत्र विनायक चतुर्थी 11:21 से 13:41
09 अप्रैल 2019 मंगलवार वैशाख विनायक चतुर्थी 11:07 से 13:38
08 मई 2019 बुधवार ज्येष्ठ (अधिक)विनायक चतुर्थी 10:58 से 13:37
06 जून 2019 गुरुवार ज्येष्ठ विनायक चतुर्थी 10:57 से 13:42
06 जुलाई 2019 शनिवार आषाढ़ विनायक चतुर्थी 11:03 से 13:09
04 अगस्त 2019 रविवार श्रावणविनायक चतुर्थी 11:07 से 13:46
02 सितंबर 2019 सोमवार गणेश चतुर्थी 11:05 से 13:36
02 अक्टूबर 2019 बुधवार भाद्रपद विनायक चतुर्थी 10:59 से 11:39
31 अक्टूबर 2019 गुरुवार अश्विन विनायक चतुर्थी 10:58 से 13:10
30 नवंबर 2019 शनिवार कार्तिक विनायक चतुर्थी 11:07 से 13:11
30 दिसंबर 2019 सोमवार पौष विनायक चतुर्थी 11:22 से 13:24

 

Astrologer Kanchan Pardeep Kukreja    

Divya Jyoti Astro And Vaastu