loading

Sankat-Choth

 

 

 

संकष्टी चौथ

हिन्दू धर्म में गणेश जी को विघ्नहर्ता और प्रथम पूज्य देव के रूप में जाना जाता है। इसीलिए किसी भी कार्य को करने से पूर्व सर्वप्रथम उनका पूजन किया जाता है। पुरे साल भर में एक पर्व ऐसाआता है जब लोग बाप्पा को अपने घर मेहमान के रूप में बुलाते है और पुरे 11 दिनों तक उनका सेवा सत्कार करते है। परन्तु इसके अलावा भी एक दिन है जिसमे भगवान श्री गणेश का पूजन और व्रत किया जाता है। इस दिन को संकष्टी चतुर्थी के नाम से जाना जाता है।

हिन्दू पंचांग के अनुसार संकष्टी चौथ हर माह कृष्ण पक्ष के चौथे दिन आती है। शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को विनायक चतुर्थी कहा जाता है बहुत से लोग इसे सकट हारा के नाम से भी जानते है। इसके अतिरिक्त अगर किसी माह की संकष्टी चतुर्थी मंगलवार के दिन पड़ती है तो उसे अंगारकी चतुर्थी के नाम से जाना जाता है। इस दिन को दक्षिण भारत में बड़े उत्साह के साथ मनाया जाता है। इस दिन लोग सूर्योदय से लेकर चंद्रोदय तक व्रत करते है।

माना जाता है चतुर्थी के दिन भगवान श्री गणेश का पूजन और व्रत करने से लाभ मिलता है। अंगारकी चतुर्थी को ही संकट हारा चतुर्थी भी कहा जाता है। कहते है इस दिन भगवान गणेश का व्रत और पूजा करने से मनचाहा फल मिलता है। भारत के उत्तरी एवं दक्षिणी राज्यों में संकष्टी चतुर्थी का पर्व बड़े श्रद्धा भाव के साथ मनाया जाता है। संकष्टी शब्द का हिंदी अर्थ है ‘कठिन समय से मुक्ति पाना’। इसीलिए बहुत सी महिलाएं एवं पुरुष बड़े श्रद्धाभाव के साथ इस व्रत को करते है।

 

 

वर्ष 2018 की संकष्टी चतुर्थी की तिथियां (तारीख)

 

तारीख  दिन पर्व चंद्रोदय
24 जनवरी 2019 गुरुवार संकष्टी चतुर्थी, सकट चौथ 21:31
22 फरवरी 2019 शुक्रवार संकष्टी चतुर्थी 21:20
24 मार्च 2019 रविवार संकष्टी चतुर्थी 22:09
22 अप्रैल 2019 सोमवार संकष्टी चतुर्थी 21:54
22 मई 2019 बुधवार संकष्टी चतुर्थी 22:27
20 जून 2019 गुरुवार संकष्टी चतुर्थी 21:53
20 जुलाई 2019 शनिवार संकष्टी चतुर्थी 21:45
19 अगस्त 2019 सोमवार संकष्टी चतुर्थी, बहुला चतुर्थी 21:21
17 सितंबर 2019 मंगलवार अंगारकी चतुर्थी 20:25
17 अक्टूबर 2019 गुरुवार संकष्टी चतुर्थी, करवा चौथ 20:16
15 नवंबर 2019 शुक्रवार संकष्टी चतुर्थी 19:46
15 दिसंबर 2019 रविवार संकष्टी चतुर्थी 20:34

 

Astrologer Kanchan Pardeep Kukreja

Divya Jyoti Astro And Vaastu