loading

Rudraksh

Ganesh Rudraksh

गणेश रूद्राक्ष<br/><br/>

जिस रूद्राक्ष में एक धारी सूंड की तरह अलग से उठी हुई दिखाई दे उसे गणेश रूद्राक्ष कहते है। जिस तरह भगवान गणेश की सूंड है। इसको धारण करने से गणेश भगवान अति प्रसन्न होते है और मानव को ज्ञान तथा रिद्धि सिद्धि की प्राप्ती होती है। धारण करने वाले को कार्य कुशलता, मान सम्मान, प्रतिष्ठा, व्यापार में लाभ होता है। विद्यार्थी वर्ग के लिए यह रूद्राक्ष बहुत ही लाभ कारी है। विद्यार्थीयों को यह विद्या, बुद्धि, स्मरण शक्ति एवं ज्ञान प्राप्ती में पूर्ण सहायता करता है। जो लोग बौधिक कार्य करते है उन्हे तो यह रूद्राक्ष अवश्य धारण करना चाहिए।

गणेश रूद्राक्ष को सोमवार के दिन या किसी शुभ महुर्त में विधिपूर्वक प्रातः काल स्नान के बाद ऊँ गं गणपते नमः मंत्र का जाप करके काले धागे में गूथंकर यथाविधि धारण करना चाहिए। साथ ही प्रतिदिन एक बार यह मंत्र अवश्य जपें।<br/><br/>

यह रुद्राक्ष हमारे यहाँ विद्वान पंडितों के द्वारा शुभ महुर्त में शुद्ध व सिद्ध किया गया है यदि आप इसे प्राप्त चाहते है   ( Contact Us)