loading

Rudraksh

19 Mukhi Rudraksh

उन्नीस मुखी रुद्राक्ष<br/><br/>

उन्नीस मुखी रुद्राक्ष को साक्षात भगवान नारायण का रूप माना गया है। उन्नीस मुखी रुद्राक्ष को पहनने से व्यक्ति को हर प्रकार के कामों में उन्नति प्राप्त होती है। व्यवसाय में लाभ होता है, तथा मान सम्मान भी प्राप्त होता है. जीवन में सफलता और सभी प्रकार के सुख मिलते हैं। यह रुद्राक्ष, धन, पति/पत्नी, संतान का सुख प्रदान करता है। यह रुद्राक्ष अनेक रोगों का शमन करने में सहायक है यह मधुमेह को नियंत्रित करता है। यौन समस्याओं व उच्च रक्तचाप जैसी बिमारियों को दूर करता है। इस रुद्राक्ष को शुद्ध विधि और मंत्र द्वारा पूजकर धारण करने से बीमारी से बचाव होता है। रक्त विकारों और रीढ़ की हड्डी की समस्याओं से पीडि़त लोगों के लिए बहुत फायदेमंद है।

उन्नीस मुखी रूद्राक्ष को सोमवार के दिन या किसी शुभ महुर्त में विधिपूर्वक प्रातः काल स्नान के बाद ऊँ वाम विष्णवे शीर्षयने स्वाहा मंत्र का जाप करके काले धागे में गूथंकर यथाविधि धारण करना चाहिए। साथ ही प्रतिदिन एक बार यह मंत्र अवश्य जपें।<br/><br/>

यह रुद्राक्ष हमारे यहाँ विद्वान पंडितों के द्वारा शुभ महुर्त में शुद्ध व सिद्ध किया गया है यदि आप इसे प्राप्त चाहते है   ( Contact Us)