loading

Purnima

 

 

पूर्णिमा

 

पूर्णिमा हमारे हिंदू पंचांग के अनुसार वह तिथि होती है जिसमें धीरे धीरे बढ़ता हुआ चंद्रमा पूर्ण  हो जाता है व रात को भी बहुत चांदनी रहती है। चंद्र की चालके अनुसार मास को दो हिस्सों में विभाजित किया जाता है जिसमें चंद्रमा बढ़ता रहता है वह शुक्ल पक्ष कहलाता है।

पूर्णिमा की रात मन ज्यादा बेचैन रहता है और नींद कम ही आती है। कमजोर दिमाग वाले लोगों के मन में आत्महत्या या हत्या करने के विचार बढ़ जाते हैं। चांद का धरती के जल से संबंध है। जब पूर्णिमा आती है तो समुद्र में ज्वार-भाटा उत्पन्न होता है, क्योंकि चंद्रमा समुद्र के जल को ऊपर की ओर खींचता है। मानव के शरीर में भी लगभग 85 प्रतिशत जल रहता है। पूर्णिमा के दिन इस जल की गति और गुण बदल जाते हैं।

वैज्ञानिकों के अनुसार इस दिन चन्द्रमा का प्रभाव काफी तेज होता है इन कारणों से शरीर के अंदर रक्तन में न्यूरॉन सेल्स क्रियाशील हो जाते हैं और ऐसी स्थिति में इंसान ज्यादा उत्तेजित या भावुक रहता है। एक बार नहीं, प्रत्येक पूर्णिमा को ऐसा होता रहता है तो व्यक्ति का भविष्य भी उसी अनुसार बनता और बिगड़ता रहता है।

जिन्हें मंदाग्नि रोग होता है या जिनके पेट में चय-उपचय की क्रिया शिथिल होती है, तब अक्सर सुनने में आता है कि ऐसे व्यक्तिय भोजन करने के बाद नशा जैसा महसूस करते हैं और नशे में न्यूरॉन सेल्स शिथिल हो जाते हैं जिससे दिमाग का नियंत्रण शरीर पर कम, भावनाओं पर ज्यादा केंद्रित हो जाता है। ऐसे व्यक्ति्यों पर चन्द्रमा का प्रभाव गलत दिशा लेने लगता है। इस कारण पूर्णिमा व्रत का पालन रखने की सलाह दी जाती है।

इस दिन किसी भी प्रकार की तामसिक वस्तुओं का सेवन नहीं करना चाहिए। इस दिन शराब आदि नशे से भी दूर रहना चाहिए। इसके शरीर पर ही नहीं, आपके भविष्य पर भी दुष्परिणाम हो सकते हैं। शास्त्रों के अनुसार चौदस, पूर्णिमा और प्रतिपदा इन  3 दिनों में पवित्र बने रहने से ग्रहो के दुष्प्रभावों से बचा जा सकता है।

इस दिन प्रातः स्नान कर पूरे दिन का उपवास रखना चाहिए। रात के समय फूल, धूप, दीप, अन्न, गुड़ आदि से चंद्रमा की पूजा कर उन्हें जल चढ़ाना चाहिए। पूजा के बाद श्रेष्ठ ब्राह्मण को जल से भरा हुआ घड़ा और विभिन्न प्रकार के पकवान दान करना चाहिए।

वर्ष 2018 की पूर्णिमा

 

तारीख ( तिथि )       वार पर्व
21 जनवरी, 2019 सोमवार पौष पूर्णिमा
19 फरवरी, 2019 मंगलवार माघ पूर्णिमा
20 मार्च, 2019 बुधवार फाल्गुन पूर्णिमा
19 अप्रैल, 2019 शुक्रवार चैत्र पूर्णिमा
18 मई, 2019 शनिवार वैशाख पूर्णिमा
17 जून, 2019 सोमवार ज्येष्ठ पूर्णिमा
16 जुलाई, 2019 मंगलवार आषाढ़ पूर्णिमा
15 अगस्त, 2019 गुरुवार श्रावण पूर्णिमा
13 सितंबर, 2019 शुक्रवार भाद्रपद पूर्णिमा
13 अक्टूबर, 2019 रविवार अश्विन पूर्णिमा
12 नवंबर, 2019 मंगलवार कार्तिक पूर्णिमा
12 दिसंबर, 2019 गुरुवार मार्गशीर्ष पूर्णिमा

Astrologer Kanchan Pardeep Kukreja

Divya Jyoti Astro and Vaastu