loading

दरिद्रता भगाने के आसान उपाय

दरिद्रता भगाने के आसान उपाय

 

 

प्रत्येक इंसान चाहता है कि हमेशा उसके घर में सुख समृद्धि रहे और कभी भी दरिद्रता उसके दरवाजे पर ना आए। परन्तु लाख प्रयासों के बाद भी दरिद्रता घर में आ ही जाती है। हालांकि शास्त्रों  में दरिद्रता को घर से दूर करने के कुछ आसान से उपाय बताए गए हैं। जानकारों के अनुसार इन उपायों को करने मात्र से दरिद्रता स्वत: ही घर से चली जाती है। लेकिन कई बार लोग जानकारी के अभाव में कई ऐसी गलतियां कर जाते हैं जिसके कारण अनजाने में वह दरिद्रता को निमंत्रण दे बैठते है। यदि इंसान इन छोटी-छोटी बातों पर ध्यान दे तो स्वत: ही दरिद्रता घर से भाग जाएगी और फिर कभी आपके घर में नहीं आएगी।

 

पुरानी परंपराओं के अनुसार कुछ ऐसे काम बताए गए हैं जो नियमित रूप से करते रहने पर हमारे घर की नकारात्मकता दूर हो सकती है। नकारात्मकता की वजह से हमारी सोच भी नकारात्मक हो जाती है, जिससे कार्यों में बाधाओं का सामना करना पड़ता है। गरुड़ पुराण के अनुसार घर की नकारात्मकता दूर करने के लिए उपाय –

 

गरूण पुराण के अनुसार घर में रोज गौमूत्र का छिड़काव करना चाहिए। अगर आप घर में रोज गौमूत्र का छिड़काव नहीं कर सकते हैं तो कम से कम सभी त्योहारों पर, सभी शुभ मुहूर्त पर या प्रत्येक माह की पूर्णिमा तिथि पर घर में गौमूत्र का छिड़काव करना चाहिए। इससे वातावरण में मौजूद नकारात्मक ऊर्जा खत्म हो जाती है, घर का माहौल पवित्र होता है। गौमूत्र की गंध में नकारात्मक ऊर्जा को खत्म करने की शक्ति होती है।

सुबह-शाम घर में घी का दीपक और कपूर जलाना चाहिए। कपूर और दीपक की रोशनी और इनसे निकलने वाले धुएं से भी वातावरण सकारात्मक बनता है।

घर के बाहर रोज सुबह रंगोली बनाने की परंपरा भी पुराने समय से चली आ रही है। घर के बाहर रंगोली से भी घर के आसपास से नकारात्मकता खत्म होती है और इसे देखने से हमारे विचार सकारात्मक बनते हैं।

सबसे जरूरी चीज घर का कोना-कोना एकदम साफ रखना चाहिए। घर में गंदगी होगी तो किसी भी पूजा-पाठ या किसी भी उपाय से हमारी सोच सकारात्मक नहीं बन पाएगी।

घर के पास कोई भी पीपल का पेड़ नहीं होना चाहिए न ही घर के चौक में पीपल का पेड़ होना चाहिए। और न ही किसी पीपल कि छाव घर में पडनी चाहिए। जिस घर में या घर के पास में पीपल होता है वो घर या तो बंद रहेगा या दरिद्र रहेगा।

घर में कभी भी 6 इंच से बड़ी मूर्ति नहीं रखनी चाहिय इसके अतिरिक्ति कभी भी घर में पत्थर कि मूर्ति न रखें।

घर में शंख से बनी हुई झालर कभी भी नहीं रखनी चाहिए।

घर में कभी भी बड़ा या सार्वजनिक मन्दिर बनाकर मूर्ति स्थापना न करें, घर में हमेशा छोटा मंदिर ही बनवाना चाहिए तथा मंदिर में भगवान की तस्वीर मिट्टी या तांबे कि मूर्ति ही रखे।

घर के पास बिजली का खम्बा नहीं होना चाहिए.

यदि आपका घर टी पॉइंट पर हो तो घर के बाहर शीशा जरुर लगवाये।

घर के बाहर नज़र बट्टू (नज़र दोष मुखोटा) जरुर लगाए।

घर में दुर्गा माता कि फोटो लगाते है तो ध्यान रखें की शेर का मुँह बन्द हो तो बहुत अच्छा होता है।

घर में कभी भी किसी भी भगवान के रोद्र रूप (भगवान के गुस्से के रूप) का फोटो न लगाएं।

घर में महाभारत युद्ध कि तस्वीर या पोस्टर कभी न लगाये।

घर में गंगा जल, मोर पंख, जरुर रखे.

दरवाजे पर दोनों तरफ पीले सिन्दूर में चमेली का तेल मिलाकर रिद्धि सिद्धि तथा शुभ लाभ जरुर लिखे, इससे घर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है।

घर में हफ्ते में एक बार गोमूत्र के छीटे लगाने से घर का वास्तु दोष समाप्त होता है।

रोज़ एक रोटी कुत्ते को गाय को जरुर देनी चाहिए।

घर का नल टपकता है तो तुरंत सही करवाये, क्योकि ये अशुभ होता है।

 

Astrologer Kanchan Pardeep Kukreja

Divya Jyoti Astro and Vaastu,

Abohar & Ludhiana